लचीला मानसिकता|मानसिकता पीडीएफ

Staff A April 3, 2017 97 मुझे ईश्वर का कोई अनुभव नहीं हुआ है और दूसरों का अनुभव मेरे किसी काम का नहीं है। अगर मैं कहीं यह पढ़ लूँ कि ईसा मसीह ने ईश्वर से बात की या मोहम्मद पैगंबर ने ईश्वर का अनुभव किया या सूरदास या तुलसीदास को ईश्वर की अनुभूति हुई तो सिर्फ पढ़कर मैं ईश्वर पर विश्वास क्यों और कैसे करने लगूँ। यहाँ तक कि मेरा दोस्त भी कहे कि उसने ईश्वर का कई बार अनुभव किया है तो भी मैं यह नहीं कह सकता कि मैं ईश्वर पर विश्वास करता हूँ- जब तक कि मैं खुद उसका अनुभव नहीं कर लेता!
Hindi – English स्वस्थ रहने के लिए तीन-चार बार हाथ जरूर धोएँ Kajal ojha says
Return & Refund Policy और जब कोई प्रयास ही नहीं होगा, तो फिर सफलता मिलनी असंभव है। बिना पुरुषार्थ के आज तक कोई भी अपना लक्ष्य नहीं पा सका है, और न ही आगे पा सकेगा। स्वेट मार्डेन कहते हैं, “निराशावाद भयंकर राक्षस है जो हमारे नाश की ताक में बैठा रहता है।” निराश लोगो में आगे बढ़ने की इच्छा मर जाती है। यदि कभी उन्नति का ख्याल भी आया, तो उन्हें मुसीबतों के पहाड़ दिखायी देने लगते हैं।
गुरु August 22, 2016 at 4:29 PM कदमताल Prakash Singh (72) सम्बंधित पोस्ट्स देखें
पर्यावरण संरक्षण क्रम 5214 कैलेंडर 2018 एक बार आपने लक्ष्य निर्धारण कर लिया फिर आपके लिए जरूरी होता है कि आपको कितनी अभिन्न चीजों का त्याग करना होगा? ISIS की धमकी- फीफा वर्ल्डकप में मेसी और रोनाल्डो का सिर कलम कर देंगे 53 mins
यदि आपके पास आशाएं, सपने और अपेक्षाएं नहीं है तो आप प्रसन्न नहीं होगे| सपने देखिये, आशाएं करिए और अपनी कल्पनाओं को उड़ने दीजिये पर साथ ही अपने सपनों को सच करने के लिए अपने दिमाग और हाथ पैर का प्रयोग करिए|
आप सही तैयारियों के साथ अपने सपने को हकीकत में बदलने की शुरुआत कर दीजिये। उम्र कभी भी आपके सपने पूरे करने से या आपको सफल होने से नहीं रोकती है। बस अपने काम करने के तरीके को और अपने सोचने के नज़रिये को सकारात्मक रखिये।
hi (लूका 20:38) बाइबल कहती है कि ‘न तो मौत, न ज़िंदगी, न आज की चीज़ें, न आनेवाली चीज़ें हमें परमेश्वर के प्यार से अलग कर सकेंगी।’—रोमियों 8:38, 39.
Self Development (25) Binary Options Trading Signals कर्नाटक में सबसे बड़े दल को मिला सरकार बनाने का न्योता तो ऐसी ही मांग बिहार और गोवा में उठी 1 mins
October 2014 यह जीवन अमूल्य है। बीता हुआ जीवन वापस नहीं आता, यह कौन समझदार व्यक्ति नहीं जानता, किंतु कितने लोग समय का सदुपयोग करते हैं। प्रतिदिन अपने लक्ष्य को पूर्ण करने की सौगंध लीजिए, उसे उसे पूर्ण करने का प्रयास करते रहिए।
Platinum 1 Website आशावादी व्यक्ति हिम्मत और हौंसले के दम पर एक न एक दिन मुश्किलों को पार कर ही लेते हैं। वह संकटों पर टूट पड़ता है और मिटटी से सोना पैदा करने की कूवत रखता है। दूसरे शब्दों में कहा जाय तो वह अपना नसीब खुद लिखता है। वह किसी के सामने अपना हाथ नहीं फैलाता, बल्कि दूसरे के बढे हाथ को थामकर उन्हें नई जिंदगी देता है।
पेन और पेपर कैसे आपको Successful Entrepreneur बना सकता है एक लेख लिखेंश्रेणीबद्ध करेंआपके विचार…
HAMARI AWAJ 2016@ All Copyrights Reserved. यदि आपको परमात्मा से संपर्क बनाना है तो बीच में किसी दलाल की क्या आवश्यकता है? प्रेम के द्वारा सीधा संपर्क करिये|
thank you sir iasi tarah story post karte rahe bahut -bahut dhanyawad sir.. Thyroid
राशिफल 18 मई: शुक्रवार को 2 शुभ योग होने के बावजूद परेशान रहेंगी 5 राशियां 38 mins
We are sorry, but we have no translations for word %E0%A4%B8%E0%A4%AB%E0%A4%B2%20%E0%A4%B9%E0%A5%8B%E0%A4%A8%E0%A4%BE in Hindi English dictionary. Please, consider adding new translation to Glosbe.
November 10, 2017 at 6:43 am भारत में और ऑनलाइन स्लाइड शो सलाहकारों को यह जानना चाहिए कि 2015 में बाजार में उतार-चढ़ाव की वजह से करोड़पति निवेशक 2016 में एक और रूढ़िवादी मानसिकता के साथ प्रवेश कर रहे हैं। उन्हें यह भी ध्यान रखना चाहिए कि अमीर लोगों के बीच रोबो-सलाहकार का इस्तेमाल होता है कुल मिलाकर लोकप्रियता में बढ़ रहा है, न सिर्फ युवा निवेशकों के बीच। प्रतिस्पर्धा करने के लिए, सलाहकारों को यह स्पष्ट करना होगा कि रोबो-सलाहकार बनाम उनके साथ काम करना क्यों ज्यादा सार्थक है। (संबंधित पढ़ने के लिए, देखें: रोबो-सलाहकार, अल्ट्रा रिच का सबसे अच्छा दोस्त। )
भारत की ऋतुएँ निबंध व जानकारी Essay on Seasons of India in hindi उपयोगकर्ता नाम: याहू! की सीईओ मारिसा मेयर कहती हैं कि  दुनिया मैं दो तरह की  प्रेरणा है – : अंदरूनी और बाहरी। अगर बाहरी प्रेरणा न मिले तो अंदरूनी प्रेरणा को कायम जरूर रखे | मारिसा कहती हैं कि जब आप अपने लक्ष्यों को ध्यान में रखकर असल दुनिया की अपेक्षाओं के साथ तालमेल बैठते हैं तो आप दोगुनी गति से सफल होते है और यही आपको सफल बनाने में काफी मददगार होगा |
इस आर्टिकल को लिखने के लिए मैंने अपने ब्लॉग की बहुत सी पोस्ट दोबारा पढ़ी। पढ़ने के बाद मुझे कुछ ऐसे कार्य मिले जिन्हें यदि आप अपनी लाइफ में शामिल कर लें तो आपको सफल होने से कोई नहीं रोक सकता।
Follow me on Twitter बहुत से लोग कहते हैं कि वो ईश्वर और उसके विधान में विश्वास करते हैं परन्तु यदि आप कुछ पाना या जिन्दगी में कुछ करना चाहते हैं तो आपको खुद कदम उठाना पड़ेगा! बैठे रहने और विश्वास कर लेने से कुछ नहीं होगा| विश्वास छोड़ो, उठो और असल दुनिया में हाथ पैर चलाओ!
ज्योतिष एवं कर्मकाण्ड चर्चित खबरें कोलोसियम रोम का इतिहास History of the Colosseum Rome in Hindi Copyright © 2018 · Metro Pro Theme on Genesis Framework · WordPress · Log in

the right mindset for success

how to be successful

millionaire mindset

धर्म कहता है कि औरत आज्ञाकारी, अधीन और पर्देवाली हो, अन्य धर्मों के लोगों को क़त्ल कर दो और जो नास्तिक हैं वो मरने के पहले और मरने के बाद यातनाएं सहन करते हुए कष्ट भोगेंगे|
असफलता कहीं सफलता से ज्यादा जरूरी है | Unsuccess To… अगर मैं, आप और हम सब ईश्वर हैं तो आप ये उपदेश किसे दे रहे हैं? December 2015 en (Matthew 28:19, 20) The number of active publishers of the good news in the last service year of the 20th century reached a new peak of 5,912,492.
मिस्र के पिरामिड The Great Pyramid of Giza Egypt History Architecture in Hindi
हम बिन. . . 2How to lower your cholesterol? मुंबई इंडियंस168/6(20.0) अधिकांश लोगों के लिए, निष्क्रिय आय सृजन करना एक हैकुछ वित्तीय निवेश करने का सरल मामला सही हिस्से या बॉन्ड में निवेश करना आपके भाग पर किसी भी प्रत्यक्ष भागीदारी की आवश्यकता के बिना हर माह आपको ब्याज कमा सकता है। कई करोड़पति निष्क्रिय आय के अन्य स्रोतों की तलाश करते हैं, उदाहरण के लिए, प्रबंधन संपत्ति के माध्यम से किराए पर लिए गए निवेश संपत्तियां
जेआरडी टाटा के बाद अगर किसी ने टाटा कंपनी को इतना आगे बढ़ाया है तो वो हैं रतन टाटा. रतन टाटा के कार्यकाल में टाटा कंपनी ने कई ऊंचाइयों को छूआ. रतन टाटा ने दुनिया भर की कई बड़ी कंपनियों का अधिग्रहण भी किया. रतन टाटा ने सफलता के लिए कई मूल मंत्र भी दिये हैं. तो आइये जानते हैं रतन टाटा ने क्या कहा है.
जातिप्रथा धर्म का एक हिस्सा है और धर्म से ही उत्पन्न हुई है| जिस धर्म की आप प्रशंसा और पालन करते हैं, वही इंसान को ऊँच और नीच में बांटता है|
कड़ी मेहनत (Hard Work) – Life Changing Hindi Article 2018 | 2017 | 2016 | 2015 | 2014 | 2013 | 2012 | 2011 | 2010 | 2009 | 2008
तीन कारण क्यों बदला ठीक है और माफी आसान है आज तक कचरे का डिब्बा अन्य त्योहार
सफलता ईबुक के नए मनोविज्ञान की मानसिकता|विकास मानसिकता पढ़ने सफलता ईबुक के नए मनोविज्ञान की मानसिकता|मस्तिष्क विकास मानसिकता सफलता ईबुक के नए मनोविज्ञान की मानसिकता|कैरोल डेविट विकास मानसिकता

Legal | Sitemap

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *